Madam Ko Mera Hard Rock Pasand Aaya – Hindi Sex Story – teacher sex story

हैलो दोस्तो, मेरा नाम अमित है ओर मैं 20 साल का हूँ.. यह मेरी पहली कहानी है।
कहानी कुछ इस तरह है कि मेरे दोस्त ने मुझे ब्लू-फिल्म की डीवीडी के बारे में बताया था।
तो मैंने कुछ डीवीडी खरीदीं और उन्हें देखने लगा।
मैं 1-2 दिन तक देखता रहा और फिर मुझे भी सेक्स करने का मन करने लगा..
पर मेरी कोई गर्लफ्रेंड नहीं है.. इसलिए मुझे कोई चुदाई के लिए चूत नहीं मिली।
फिर मैंने सोचा क्यों ना बाहर कोचिंग जाकर किसी लड़की के साथ चुदाई करूँ।
इसी बात को ध्यान में रख कर मैंने प्लानिंग की और पापा से बात की कि मुझे कंप्यूटर क्लास ज्वाइन करना है.. क्योंकि मुझे कंप्यूटर बहुत पसन्द है।
मैंने शनिवार को अपना एडमिशन भी करा लिया और मुझे सोमवार से क्लास ज्वाइन करना था।
जब मैं क्लास में पहुँचा तो देखा कि वहाँ पर सिर्फ़ 7 स्टूडेंट थे जिसमें से 2 लड़के और 5 लड़कियाँ थीं।
फिर जब मैंने मैडम को देखा तो दो मिनट तक उन्हें अपलक देखता ही रह गया।
उनका फिगर 36-32-36 का रहा होगा।
जब वो बोर्ड की तरफ मुड़तीं तो उनकी गाण्ड देखकर ही मेरे लण्ड में कुछ-कुछ होने लगता।
कुछ दिन तक ऐसे ही चलता रहा..
तीसरे दिन को पता चला कि मेरी क्लास 2 बजे है और बाकी लोगों का सुबह टेस्ट है।
तो उस दिन क्लास में मैं अकेला स्टूडेंट था।

loading…

आज मैडम ने स्लीवलैस ब्लाउज और गुलाबी रंग की साड़ी पहनी हुई थी।
उस दिन मैडम मेरी तरफ बैठ कर मुझे पढ़ा रही थीं।
मेरा ध्यान बार-बार मैडम के मम्मों की तरफ जा रहा था और मैं सोच रहा था कि कैसे इन मम्मों को हाथ लगाऊँ।
मैडम ने यह बात नोटिस कर ली लेकिन उस दिन कुछ समय तक कुछ नहीं बोलीं।
जब मैं छुट्टी के बाद सीड़ियों से उतरने लगा.. तो मैडम ने पूछा- आज क्या हो गया था तुझे.. कुछ डिस्टर्ब सा लग रहा था?
जल्दी-जल्दी में मैंने भी ‘हाँ’ कह दिया।
मैडम ने पूछा- क्यों?
लेकिन मैं कुछ बोल नहीं पाया और फिर मैडम चली गईं.. 2-3 दिन बाद मेरी छुट्टी होने के बाद जब मैं घर जाने के लिए बस के लिए खड़ा था तो पता चला कि वहाँ का रोड बंद है।
फिर मैं स्टेशन की तरफ चल पड़ा।
रास्ते में ही मैडम का घर था लेकिन उसके बारे में मुझे भी नहीं पता था।
जब मैडम ने मुझे देखा तो मुझे बुलाया और कहा- कहाँ जा रहे हो.. तुम्हारा घर तो इस तरफ नहीं है?
मैंने बताया- मुझे स्टेशन जाना है क्योंकि वहाँ की रोड बंद है और ट्रेन दो घंटे बाद है।
तो मैडम ने कहा- जब दो घंटे हैं तो थोड़ी देर यहीं रुक जाओ.. फिर चले जाना..
फिर मैडम और मेरे बीच में कॉलेज के दोस्तों की तरह फ्रेंडशिप हो गई।
उस दिन हम दोनों हॉलीवुड पिक्चर देख रहे थे और चाय पी रहे थे।
मैडम ने गाउन पहना हुआ था और मैडम को देख कर मेरा लण्ड खड़ा होने लगा।
मैडम को पता ना चल जाए इसके लिए मैंने लौड़े के उठान पर अपना बैग रख लिया और फिर नर्वस होकर बोला- मैडम मैं चलता हूँ..
मैडम बोलीं- क्यों इतनी जल्दी?
मैंने कह दिया- नहीं मुझे जाना पड़ेगा क्योंकि टिकट भी लेना है..
मैं चला गया.. पर मैडम ने मेरे खड़े लण्ड को नोटिस कर लिया था।
फिर 10वें दिन मैडम ने मेरा फोन नम्बर लिया।
छुट्टी होने के बाद मैडम ने मुझे कॉल किया और अपने घर बुलाया।
मैं सोचने लगा मैडम ने घर क्यों बुलाया होगा और मेरे दिल धड़कने लगा।
वहाँ पहुँचा तो मैडम ने हल्के रंग का झीना सा गाउन पहना हुआ था।
इस गाउन में से उनकी ब्रा.. मम्मों के पॉइंट और गाण्ड इतनी मस्त दिख रही थी कि ऐसा लग रहा था कि अभी पकड़ कर चोद दूँ।
फिर मैडम मेरे लिए चाय लाईं और मुझसे चिपक कर बैठ गईं।
फिर से मेरे लण्ड में कुछ-कुछ होने लगा और वो खड़ा हो गया.. मैंने अपना बैग अपने लण्ड पर रख लिया।
मैडम ने पूछा- तेरी कोई गर्लफ्रेंड है?

loading…

तो मैंने मना कर दिया.. तब मैडम ने कहा- क्यों.. इतना दर्द सह रहे हो.. उसको फ्री करो..
मैंने कहा- मैं कुछ समझा नहीं मैडम?
तब मैडम मेरे पास आई और मेरे हाथ से मेरा बैग छीन लिया और कहा- मैं इस ‘हार्ड रॉक’ की बात कर रही हूँ।
मैं एकदम डर गया..
मैडम बोली- डरो मत.. इससे पहले कभी किया है?
मैंने अंजान बनकर पूछा- क्या मैडम?
मैडम बोली- सेक्स..
मैं बोला- नहीं..
मैडम ने कहा- चलो आज एक्सपीरियेन्स कर लो..
मैंने कहा- कोई आ जाएगा तो?
मैडम ने कहा- मेरे पति रात को 9 बजे आते हैं और मेरी पड़ोसन अपने घर गई हुई है.. हमें डिस्टर्ब करने वाला कोई नहीं है।
मैडम ने अपना हाथ मेरे लण्ड के ऊपर रख दिया और मुझे चुम्बन करने लगी।
फिर मैं भी मैडम का साथ देने लगा, मैंने उनके मम्मों को दबाने चालू किया।
करीब 5-6 मिनट तक दबाता ही रहा और हम दोनों ने अपने होंठों को एक-दूसरे के होंठों से मिला दिए थे और गहरे चुम्बन में मदहोश हो गए थे।
फिर मैडम ने मेरी पैन्ट की ज़िप खोली और मैंने उनके गाउन की तनी ढीली कर दी।
मैड

loading…

Add a Comment

Your email address will not be published.