पूनम दीदी की गांड चुदाई

पूनम दीदी की गांड चुदाई -> Gandi Kahani

Gandi Kahani -> हैल्लो दोस्तों, मेरा नाम अभिषेक है और मुझे सब प्यार से अभी कहते है। आज में अपनी एक और कहानी आप सबके लिए लेकर आया हूँ। मुझे उम्मीद है आपको मेरी ये कहानी भी बहुत पसंद आएगी। तो चलिए अब में आपका ज़्यादा टाईम खराब ना करते हुए सीधा कहानी पर आता हूँ। यह बात उन दिनों की है, जब मेरी उम्र 23 साल थी। में जवान और हैंडसम हूँ और जिम जाने के बाद अब मेरी बॉडी पहले से भी काफ़ी अच्छी बन चुकी थी। में उन दिनों कॉलेज में था और अपने लास्ट के एग्जॉम देकर में 2 महीने के लिए पूरा फ्री था। अब घर पर मेरा काम नहीं था, इसलिए मम्मी पापा ने मुझे मामा जी के घर रहने के लिए भेज दिया था। मम्मी ने कहा था कि वहाँ जाने से मेरा थोड़ा माइंड फ्रेश हो जाएगा, क्योंकि पिछले 3-4 महीनों से में दिन रात पढाई कर रहा था, इसलिए में मामा जी के घर चला गया था।
मेरे मामा जी का घर असम में था, सच में वो काफ़ी ज़्यादा अच्छी जगह थी। उनके घर में नाना, नानी, मामा, मामी और उनकी दो बेटियाँ रहती थी। उनकी बड़ी वाली लड़की का नाम पूनम था और उसकी उम्र 21 साल की थी और दूसरी वाली लड़की का नाम ममता था, ममता की उम्र 18 साल थी और वो अभी स्कूल में जाती थी। में उन दोनों को अपनी बहन ही मानता था, इसलिए मैंने अभी तक उनको गलत नजरों से नहीं देखा था, लेकिन में आपको बता दूँ कि वो दोनों बहुत ही सेक्सी थी, लेकिन सबसे ज़्यादा सेक्सी और हॉट बड़ी वाली पूनम थी, उसका फिगर साईज इतना कमाल का था कि आपका भी लंड खड़ा हो जाएगा, उसका फिगर साईज कुछ ऐसा था 34-28-34। हाँ दोस्तों ये सच है, जब एक कुंवारी लड़की का ऐसा फिगर होता है तो अच्छो-अच्छो का लंड खड़ा हो जाता है। उसके मोटे-मोटे बूब्स और गांड के बीच पतली सी 28 की कमर सच में बहुत प्यारी लगती थी। मुझे उसके बूब्स और गांड ने अपना दीवाना बना लिया था।
दोस्तों यह एक दिन की बात है मामी जी को अपनी छोटी बेटी के ममता के साथ मार्केट जाना था इसलिए अब घर पर सिर्फ़ में और पूनम ही थे और नीचे वाले फ्लोर पर नाना नानी जी थे। अब जब मामी जी जा रही थी, तो तब नीचे नाना नानी जी सो रहे थे। अब में और पूनम ऊपर वाले फ्लोर पर थे। अब पूनम अपने कॉलेज का कुछ काम कर रही थी। अब में अकेला बैठा बोर हो रहा था इसलिए में ऊपर वाले रूम में गया और फिर वहाँ आकर मैंने टी.वी ऑन कर दिया और पंजाबी गाने सुनने लग गया था। तभी मैंने देखा कि पूनम भी मेरे पीछे ही रूम में आ गई थी। अब वो अपने साथ कुछ बुक्स भी ले आई थी और आकर मेरे बहुत पास बैठ गई थी।
मैंने आज पहली बार पूनम को इतने पास से देखा था। उसने बहुत पतली सी टाईट पजामी और कुर्ती पहनी हुई थी। सच में वो साली बहुत कमाल की लग रही थी। अब मेरा लंड खड़ा सा होने लग गया था, आज पहली बार मेरी नजर उसके लिए खराब हो गई थी। अब इतने में में कुछ और करता या समझता इतने वो खड़ी हुई और मेरे आगे झुककर एक सवाल पूछने लग गई। तब वो जैसे ही मेरे आगे झुकी उसके मोटे-मोटे बूब्स मेरे सामने आ गये, जिसे देखते ही बस मेरा उन्हें चूसने का बहुत कर रहा था। अब मेरा दिल कर रहा था कि अभी के अभी इस साली को चोद डालूं। अब उसके बूब्स देखकर मेरा दिमाग काम करना बंद कर गया था, इसलिए मैंने उससे कहा कि यार प्लीज ये सवाल अब तुम मुझसे कल पूछना, क्योंकि अभी तो मेरा बहुत ज़्यादा सिर दर्द कर रहा है। फिर ये सुनते ही वो बोली कि कोई बात नहीं, अभी में तुम्हारे सिर की मालिश कर देती हूँ, उससे तुम्हारा सिर एकदम ठीक हो जाएगा।
ऑफिस वाली दोस्त की चुदाई || Office waali dost ki Chudayi || GaramaGaram Kahaniya
अब इससे पहले में कुछ बोलता उसने मेरा सिर ज़ोर से पकड़ लिया और दबाने लग गई थी। फिर उसके बाद कुछ देर तक उसने मेरा सिर दबाया। फिर मैंने उसे पढाई करने के लिए कह दिया। अब हम दोनों कुछ इस तरह बैठे थे कि में बेड के साथ अपनी कमर लगाकर बैठा हुआ था और वो मेरे सामने बुक्स खोलकर पढ़ रही थी। तभी बैठे-बैठे मेरे दिमाग में एक जबरदस्त आईडिया आया तो तब मैंने झट से अपना मोबाईल निकाला और उसमें ब्लू मूवी लगाकर देखने लग गया। अब मुझे अच्छे से पता था कि में जो कुछ भी कर रहा हूँ, वो सब कुछ बेड के पीछे लगे हुए कांच में साफ-साफ दिख रहा था और में यही चाहता था कि पूनम देखे कि में क्या देख रहा हूँ? तो तभी कुछ देर के बाद पूनम बोली कि ये आप क्या देख रहे हो? तो तब मैंने भी कह दिया कि ये चीज सिर्फ़ बड़े लोग ही देखते है। तो तब वो बोली कि अब में बड़ी हो गई हूँ इसलिए अब में भी देखूँगी कि बड़े लोग क्या-क्या देखते है?
फिर क्या था? पूनम उठी और मेरे पास आकर बैठ गई। अब उस टाईम मूवी में एक काला आदमी अपना बड़ा सा काला लंड गोरी लड़की की गांड में डाल रहा था और लड़की उसके आगे घोड़ी बनी हुई थी और वो पीछे से ज़ोर-ज़ोर से उसकी गांड को चोद रहा था। तब मैंने फ़ोन की थोड़ी सी आवाज तेज कर दी। अब लड़की की चीखने और चिल्लाने की आवाज हम दोनों भी सुन रहे थे। फिर पूनम बोली कि भैया मुझे नहीं पता था कि आप भी ऐसी वीडियो देखते हो। फिर तब में झट से बोला कि यार देखो, ये सब देखते है और इसमें गलत ही क्या है? हम सब देखकर इससे मज़े ही तो लेते है। तो तब पूनम बोली कि हाँ भला, अब इसमें क्या मज़ा? एक लड़की को दर्द देकर वो आपके सामने कैसे रो रही है? तो तब में बोला कि मेरी जान इस दर्द में ही तो सब कुछ है, अब तुम्हें क्या बताऊँ? मेरी जान इस दर्द में जो मज़ा आता है, वो मज़ा लड़की को पूरी दुनिया में कही नहीं मिलता। तो तब पूनम बोली कि हाँ-हाँ अगर आपके मज़े के चक्कर में लड़की माँ बन गई तो उसका क्या होगा?
सहेली के भाई ने मुझे पलंग के साथ बांध कर चोदा
तो तब में बोला कि ओ बेवकूफ गांड मारने से बच्चा नहीं होता, बल्कि चूत मारने से होता है और वो भी तब होता है जब लड़के के लंड का पानी उसकी चूत की गहराई में जाता है। अब तक पूनम वीडियो देखकर और मेरी बातें सुनकर काफ़ी गर्म हो गई थी। शायद अब उससे ज़्यादा इन्तजार नहीं हो रहा था, फिर तब उसने कहा कि भैया क्या आप मेरी गांड मारोगे? प्लीज भैया मना मत करना, मेरा बहुत दिल कर रहा है अपनी गांड में कुछ डलवाने का, लेकिन आपने जब ये वीडियो दिखाई तो अब मेरा दिमाग और भी खराब हो गया है। तो तब में बोला कि ठीक है, लेकिन गांड में सूखा लंड नहीं जाता है, लंड का पहले अच्छे से गीला होना जरूरी है। फिर ये सुनते ही वो बोली कि बस भैया इतनी सी बात और फिर उसने मेरा लंड पकड़ा और मेरी पेंट को झट से खोल दिया। तब मैंने कहा कि 1 मिनट यार पहले तुम एक बार नीचे जाकर देख आओ कि नाना नानी सो रहे है या नहीं।
फिर पूनम भागकर नीचे गई और भागकर वापस आई और फिर वापस आते हुए उसने अंदर से दरवाजा बंद कर लिया और बोली कि आज मुझे गांड मरवाने से कोई नहीं रोक सकता है। फिर वो नीचे बैठ गई और मेरा लंड अपने एक हाथ में पकड़कर ज़ोर-ज़ोर से हिलाने लग गई थी। अब मेरा लंड कुछ ही देर में उसके मुँह में था। दोस्तों उसका मुँह बहुत ही गर्म था। अब उसके मुँह की गर्म थूक मेरे लंड पर लग रही थी और जब वो मेरे लंड को अपने मुँह में ज़ोर-ज़ोर से ऊपर नीचे कर रही थी, तब वो बहुत ही अच्छी लग रही थी। अब मुझे बहुत मज़ा आ रहा था। फिर मैंने उसके सिर पर अपना एक हाथ रख लिया और ज़ोर-ज़ोर से उसके मुँह को चोदने लग गया था। अब उसके मुँह के थूक से मेरा पूरा लंड भीग चुका था। अब जब वो मेरा लंड चूस रही थी, तब मैंने पीछे से उसके कुर्ते में अपना एक हाथ डालकर उसकी ब्रा खोल दी थी।
फिर वो खड़ी हुई और फिर मैंने उसके होंठो को अपने होंठो में ले लिया और ज़ोर-ज़ोर से उसके होंठो को चूसने लग गया था। फिर मैंने उसे बेड पर सीधा लेटा दिया और उसके पूरे जिस्म को किस करने लग गया था। अब पूनम मेरे नीचे जलने लग गई थी। अब उसके पूरे जिस्म में से आग निकल रही थी, लेकिन फिर भी में उसके जिस्म को चूम रहा था। फिर में उसके बूब्स पर आ गया और फिर मैंने सबसे पहले उसके दोनों बूब्स को अपने हाथों में पकड़ा और ज़ोर-ज़ोर से उसके बूब्स को चूसने लग गया था। अब उसके दोनों बूब्स को काफ़ी देर तक चूसने के बाद उसके बूब्स पूरे लाल हो चुके थे। अब उसके दोनों बूब्स को पूरा लाल करने के बाद में उसके पेट को चाटते हुए उसकी चूत पर आ गया था। अब मैंने उसकी पेंटी को अपने दातों से खींच-खींचकर पूरा फाड़ दिया था, उसकी चूत पूरी चिकनी पड़ी थी। फिर मैंने झट से अपनी जीभ बाहर निकालकर उसकी चूत के होंठो पर रख दी और फिर ज़ोर-ज़ोर से उसकी चूत को चाटने लग गया था। अब वो एक पानी बिना मछली की तरह तड़पने लग गई थी।
दीदी की जेठानी की चुदाई desi xxx hindi kahani
फिर मेरी जीभ जैसे ही उसकी चूत के अंदर गई, तो तभी पूनम की चूत ने बहुत सारा पानी मेरी जीभ के ऊपर ही निकाल दिया। तब मैंने बड़े मज़े से उसकी चूत का पानी पी लिया और फिर उसकी पूरी चूत को अच्छे से चाटकर साफ दिया। फिर उसकी चूत को साफ करने के बाद में अपना लंड उसकी चूत पर रगड़ने लग गया। तभी वो बोली कि चूत नहीं प्लीज तुम मेरी गांड मारो, क्योंकि मुझे डर लगता है कि कही में माँ ना बन जाऊं। तब मैंने उसकी बात मान ली और उसे बेड से उठाकर नीचे जमीन पर ले आया। फिर मैंने उसे जमीन पर घोड़ी बना दिया और पास बड़ी वैसलीन बॉडी लोशन की बोतल उसकी गांड में घुसा दी और काफ़ी सारी वैसलीन क्रीम उसकी गांड में डाल दी थी। अब उसकी गांड बहुत चिकनी हो गई थी। फिर मैंने उससे कहा कि तुम अपने दोनों हाथों से अपनी गांड को खोला। तब उसने ऐसा ही किया और फिर मैंने अपना लंड उसकी गांड पर सेट करके उसकी कमर को ज़ोर से पकड़ लिया और फिर बहुत ज़ोर से एक धक्का मारा, जिससे मेरा लंड आधे से थोड़ा कम उसकी गांड में चला गया था। फिर मेरा लंड अंदर जाते ही उसकी गांड फट गई।
अब उसकी गांड में से खून निकलने लग गया था। अब मैंने उसकी कमर को ज़ोर से कसकर पकड़ा हुआ था इसलिए वो हिल भी नहीं पा रही थी। अब पूरे कमरे में उसकी चीखे सुनाई दे रही थी। फिर मैंने उसका मुँह बंद कर दिया और थोड़ी देर रुक गया। तब कुछ देर के बाद जब वो थोड़ी होश में आई तो तब मैंने फिर से उसकी गांड की चुदाई शुरू कर दी। अब पहले उसे बहुत दर्द हो रहा था, लेकिन अब वो अपनी गांड को खुद ही आगे पीछे करके अपनी गांड मरवा रही थी। अब मेरा लंड उसकी गांड के खून से भर गया था। फिर करीब 20 मिनट की चुदाई के बाद मेरे लंड ने उसकी गांड को अपने पानी से भर दिया। अब हम दोनों पूरी तरह से थक गये थे। अब पूनम ठीक से चल भी नहीं पा रही थी। फिर में उसको अपनी गोद में उठाकर बाथरूम में ले गया। फिर हम दोनों बाथरूम में गये और फिर वहाँ मैंने एक बार फिर से उसके मुँह को चोदा और उसे अपने लंड का सारा पानी भी पिलाया। फिर उन 2 महीनों में वो मेरी रंडी बनकर रही और हमने खूब मजा किया ।।
धन्यवाद …
English Sex Stories

5 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published.